विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • स्टैच्यू ऑफ यूनिटी सरदार पटेल के लिए एक स्मरणीय स्मारक है  
  • आयुष
  • श्रीपद नाइक गोवा में 23 से 25 जनवरी, 2019 तक आयोजित होने वाले दूसरी विश्व एकीकृत चिकित्सा संगोष्ठी 2019 का उद्घाटन करेंगे  
  • संस्कृति मंत्रालय
  • प्रयागराज कुंभ मेले में कल पौष पूर्णिमा के दूसरे स्नान पर्व के लिए सभी तैयारियाँ पूर्ण  
  • प्रवासी भारतीय दिवस 2019: अतिथियों का काशी आगमन प्रारम्भ  

 
संस्कृति मंत्रालय20-जनवरी, 2019 19:52 IST

प्रयागराज कुंभ मेले में कल पौष पूर्णिमा के दूसरे स्नान पर्व के लिए सभी तैयारियाँ पूर्ण

डीडी, यूपी कार्यक्रम का सीधा प्रसारण करेगा

प्रयागराज कुंभ मेले में कल पौष पूर्णिमा के दूसरे स्नान पर्व के लिए सभी व्यवस्थाएँ पूर्ण कर ली गई है।

पौष पूर्णिमा से माघी पूर्णिमा तक की एक माह की अवधि तक चलने वाला कल्पवास कल से प्रारम्भ होगा। इस समयावधि में भक्तगण अपने इष्ट की आराधना करने के साथ-साथ गंगा, यमुना और पौराणिक सरस्वती नदियों के   सानिध्य में पवित्र गंगा नदी में डुबकी लगाते हुए संगम के तट पर एक माह व्यतीत करते हैं। कल्पवास प्रयागराज कुंभ मेले की प्रमुख आध्यात्मिक गतिविधियों में से एक हैं- जहां मानवता के रूप में विश्व में सबसे अधिक श्रद्धालु एक स्थल पर एकत्र होते हैं। इस दूसरे स्नान पर्व पर अखाड़ों का शाही स्नान नहीं होता है। 15 जनवरी को मकर संक्रांति के अवसर पर अखाड़ों के प्रथम शाही स्नान का आयोजन किया गया था, जिसने कुंभ का शुभांरभ मानते है।

शांतिपूर्ण स्नान के लिए मेला प्रशासन ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। प्रशासन ने आज सुबह से ही मेला क्षेत्र में वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध की घोषणा कर दी है। मेला क्षेत्र में बड़ी संख्या में भक्त और कल्पवासी लगातार पहुंच रहे हैं। अधिकांश कल्पवासी प्रयाग के पुजारियों, संतों और ऋषियों के शिविरों में रहते हैं।

नव विकसित किन्नर अखाड़ा कल स्नान करेगा।

संगम पर कल स्नान करने के लिए 8 किलोमीटर लंबा घाट तैयार किया गया है। इसी तरह गंगा नदी के तट पर 35 स्नान क्षेत्रों को भी तैयार किया गया है। राज्य सरकार ने विशिष्ट व्यक्तियों को स्नान पर्व के दौरान कुंभ मेले में नहीं आने की सलाह दी है क्योंकि स्नान पर्व के दिन किसी भी तरह का प्रोटोकॉल किसी के लिए स्वीकार्य नहीं होगा। प्रयागराज शहर में वाणिज्यिक वाहनों का प्रवेश निषिद्ध कर दिया गया है। श्रद्धालुओं को लाने-ले जाने के लिए 41 स्पेशल ट्रेन और चार हजार बसों को सेवा में लगाया गया है। प्रयागराज शहर के सात प्रवेश स्थलों से पहली बार शटल बसों को श्रद्धालुओं की सेवा में लगाया गया है। लखनऊ रोड, वाराणसी रोड, जौनपुर रोड, मीरजापुर रोड, कानपुर रोड, रीवा रोड और बांदा रोड से आने वाले वाहनों के लिए प्रयागराज में अस्थायी बस स्टेशन बनाए गए हैं। सेक्टर चार तक मेला क्षेत्र के अंदर केवल शटल बसों की अनुमति है।

मेला के पुलिस प्रमुख डीआईजी केपी ने कहा है कि भारी भीड़ को असुविधा से बचाने के लिए शटल बसों का संचालन किया जाएगा।

प्रयागराज मेला प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजय किरण आनंद ने कहा है कि कल दूसरे स्नान पर्व पर लगभग 60 लाख श्रद्धालुओं और स्नानार्थियों के आने की आशा है।

***

 

आर.के.मीणा/एएम/संजीव/एनके- 305

(Release ID 78666)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338