विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • भारत के राष्ट्रपति ने ‘‘विश्व पर्यावरण सम्मेलन’’ का उद्घाटन किया   
  • बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस की पूर्व संध्या पर भारत के राष्ट्रपति का संदेश   
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • विश्वविद्यालयों को, ज्ञान के मुक्त, स्वतंत्र स्थलों, महत्वपूर्ण भंडारों और उदार मूल्यों के नवीकरण के स्रोतों के रूप में रक्षित करने की आवश्यकता है - उप राष्ट्रपति।   
  • कृषि मंत्रालय
  • पिछले दो वर्षों में सरकार ने राज्यों में कृषि विश्वविद्यालयों के लिए 40 प्रतिशत अतिरिक्त धन मंजूर किया है।  
  • गृह मंत्रालय
  • स्‍पष्‍टीकरण  
  • पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय
  • स्वच्छ भारत हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगीः मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश  
  • वित्त मंत्रालय
  • वित्‍त मंत्रालय ने वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के कार्यान्‍वयन के लिए केन्‍द्रीय आबकारी और सीमा शुल्‍क बोर्ड (सीबीईसी) के फील्‍ड संगठनों के पुनर्गठन प्रस्‍ताव को मंजूरी प्रदान की; वैधानिक मंजूरी मिलने के बाद सीबीईसी को केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर और सीमा शुल्‍क बोर्ड (सीबीआईसी) का नया नाम दिया जायेगा।  
  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय
  • श्री थावर चंद गहलोत ने डाउन सिड्रोम के बारे में राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया   

 
कृषि मंत्रालय11-जनवरी, 2017 20:07 IST

भारत और इजरायल कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह से आज इजरायल के कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री यूरी एरियल की अगुवाई वाले इजरायली प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की। इस दौरान भारत और इजरायल के बीच कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग से जुड़े मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। दोनों ही पक्षों ने दोनों देशों के बीच कृषि एवं संबद्ध क्षेत्रों में सहयोग की दिशा में हुई प्रगति पर संतोष व्‍यक्‍त किया।

दोनों ही पक्षों ने कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को और अधिक बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की, जो इस तथ्‍य से साफ जाहिर होती है कि बागवानी के क्षेत्र में वर्ष 2015 से लेकर वर्ष 2018 तक की कार्य योजना के तीसरे चरण को हाल ही में दोनों देशों द्वारा अंतिम रूप दिया गया है। इस कार्यक्रम के तहत विभिन्‍न फलों एवं सब्‍जियों की खेती के लिए 21 राज्‍यों में 27 उत्‍कृष्‍टता केंद्र (सीओई) स्‍थापित किए जा रहे हैं, जिनमें से 15 उत्‍कृष्‍टता केंद्रों की स्‍थापना का काम पूरा हो चुका है।

यही नहीं, दोनों ही पक्षों ने यह उम्‍मीद जताई कि इस सहयोग को जारी रखते हुए दोनों देश अनेक नए क्षेत्रों में भी एक-दूसरे की सरकारों एवं कारोबारियों के बीच सहयोग की शुरुआत कर सकते हैं, ताकि आपसी रिश्‍तों को और ज्‍यादा प्रगाढ़ किया जा सके।

 

 

***

 

वीके/आरआरएस/एसकेपी

(Release ID 59036)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338