विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • प्रधानमंत्री ने केदारनाथ का दौरा किया; कई परियोजनाओं की आधारशिला रखी  
  • प्रधानमंत्री ने गुजराती नववर्ष पर शुभकामनाएं दीं  
  • कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय
  • कार्पोरेट मामलों के मंत्रालय ने पंजीकृत मूल्‍यांकक द्वारा मूल्‍यांकन से जुड़े कम्‍पनी अधिनियम, 2013 की धारा 247 की शुरूआत के लिए अधिसूचना जारी की  
  • ग्रामीण विकास मंत्रालय
  • ‘ग्रामीण क्षेत्रों में महत्वपूर्ण रोजगार और उद्यम पर बल’   
  • गृह मंत्रालय
  • पुलिस स्मृति दिवस कल मनाया जाएगा   
  • जल संसाधन मंत्रालय
  • स्वच्छ घाटों के बाद वाराणसी में गंगा प्रदूषण मुक्‍त भी होगी   
  • देश के 91 प्रमुख जलाशयों की जल संग्रहण क्षमता में 2 प्रतिशत की वृद्धि   
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 19.10.2017 को 56.07 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही  
  • पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय
  • ओडिशा के तटीय क्षेत्र के ऊपर कम दबाव के क्षेत्र के कारण मौसम संबंधी चेतावनी   
  • पर्यटन मंत्रालय
  • पर्यटन की शक्ति   
  • पर्यावरण एवं वन मंत्रालय
  • दिल्ली की वायु गुणवत्ता पिछले वर्ष की तुलना में बेहतर: डा. हर्षवर्धन  
  • रक्षा मंत्रालय
  • इन्‍द्र-2017 युद्ध अभ्यास शुरू   
  • नौसेना के जहाज जकार्ता, इंडोनेशिया की यात्रा पर   
  • प्रधानमंत्री ने आईएनएसवी तारिणी के कर्मियों को दीपावली की शुभकामनाएं दी   
  • रसायन और उर्वरक मंत्रालय
  • दवाओं की मूल्य सीमा-निर्धारण से संबंधित प्रेस नोट

      
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • श्री अश्विनी कुमार चौबे ने शहीद श्री निलेश कुमार नयन को श्रधांजली दी   

 
रक्षा मंत्रालय07-अक्टूबर, 2017 15:02 IST

भारतीय नौसेना ने एडन की खाड़ी में समुद्री डकैती के प्रयास को विफल किया

06 अक्टूबर 2017 को एक भारतीय नौसेना युद्धपोत ने उच्च महासागर पर समुद्री डकैती के प्रयास को विफल किया।

एडन की खाड़ी में भारतीय नौसेना के गोपनीय युद्धपोत आईएनएस त्रिशूल की समुद्री डकैती विरोधी गशत के दौरान व्यापारिक जहाज एम.वी. जगअमर को अनुरक्षण देते हुए इस व्यापरिक जहाज के आसपास संदिग्ध युद्धपोत नौका का पता लगाया गया।

आईएनएस त्रिशूल ने जांच के लिए नाव को बंद कर दिया और जांच के लिए उसके अभिन्न हेलीकॉप्टर की जांच शुरू की। यह नाव समुद्री डकैती में इस्तेमाल किये जाने वाले हथियार और गोला-बारूद ले कर जा रहा था। समुद्री कमांडो द्वारा समुद्री डकैती नाव पर काबू पाने के बाद, मानक संचालन प्रक्रियाओं के द्वारा सभी समुद्री डकैती में प्रयुक्त हथियारों को विफल कर दिया गया। व्यापरिक जहाज जग अमर अपने सभी 26 भारतीय क्रू सुरक्षित हैं और अपनी यात्रा पर है। अन्य नाव और इसके क्रू को बाद में छोड़ दिया गया।

वर्ष 2008 से भारतीय नौसेना ने एडन की खाड़ी में और इसके आसपास एक युद्धपोत तैनात कर रखी है। और सैकड़ों व्यापारी जहाजों को इस धोखेबाज जल के रास्तों में सुरक्षा प्रदान की है। भारतीय जहाज समुद्र डकैती से बचाने के लिए प्रणबद्ध है और क्षेत्रीय विधि आचरण के लिए इनकी अनिवार्यता नहीं है। एडन की खाड़ी क्षेत्र में आतंकवाद विरोधी अभियान के लिए भारतीय जहाजों द्वारा किए गए प्रयासों को जारी रखने के लिए तर्क दिया गया है।

***


वीके/पीकेए/एनके-4076
(Release ID 67535)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338