विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • संसद के मानसून सत्र से पूर्व प्रधानमंत्री के वक्तव्य का मूल पाठ  
  • मंत्रिमंडल
  • मंत्रिमंडल ने पारंपरिक औषधि एवं होम्‍योपैथी के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और क्‍यूबा के बीच एमओयू को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने ब्रिक्स देशों में क्षेत्रीय विमानन साझेदीरी पर समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर को स्वीकृति दी  
  • मंत्रिमंडल ने औषधिय उत्‍पाद, औषधिय पदार्थ, जीव विज्ञानिक उत्‍पाद और कॉस्‍मेटिक विनियमन के क्षेत्र में भारत और इंडोनेशिया के बीच एमओयू को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने 2010 में हस्‍ताक्षरित पारस्पिरि‍क मान्‍यता समझौते (एमआरए) को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने इंस्‍टीट्यूट ऑफ चार्टड एकाउंटेट्स ऑफ इंडिया तथा बहरीन इंस्‍टीट्यूट ऑफ बैंकिंग एण्‍ड फाइनेन्‍स के बीच समझौता ज्ञापन को स्‍वीकृति दी  
  • मंत्रिमंडल ने भारतीय सनदी लेखा संस्‍थान (आईसीएआई) और नेशनल बोर्ड ऑफ अकाउंटेंस एंड ऑडिटर्स (एनबीएए), तंजानिया के बीच एमओयू को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती पर कैदियों को विशेष माफी देने को मंजूरी दी  
  • आर्थिक मामलों पर मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए)
  • मंत्रिमंडल ने 2018-19 के चीनी सीजन के लिए चीनी मिलों द्वारा देय उचित एवं लाभकारी मूल्य के निर्धारण को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने अल्‍पसंख्‍यक समुदायों के विद्यार्थियों के लिए(i) मैट्रिक पूर्व छात्रवृत्ति योजना (II) मैट्रिक पश्‍चात् छात्रवृत्ति योजना (III) मेधा-सह-साधन योजना को 2017-18 से 2019-20 तक जारी रखने को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने उत्‍तर प्रदेश में देवरिया के सलेमपुर में मेडिकल कॉलेज की स्‍थापना को स्‍वीकृति दी  
  • मंत्रिमंडल ने विदर्भ, मराठवाड़ा तथा शेष महाराष्‍ट्र के सूखा संभावित क्षेत्र में सिचांई परियोजनाओं के लिए विशेष पैकेज को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने पूर्व एनईएलपी तथा एनईएलपी ब्‍लॉकों में उत्‍पादन साझा करने के ठेके को युक्ति संगत बनाने के लिए नीति रूपरेखा को मंजूरी दी  
  • अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय
  • अल्‍पसंख्‍यकों के लिए कल्‍याणकारी योजनाएं    
  • मंत्रिमंडल ने अल्पीसंख्यकक समुदायों के विद्यार्थियों के लिए(i) मैट्रिक पूर्व छात्रवृत्ति योजना (II) मैट्रिक पश्चा त् छात्रवृत्ति योजना (III) मेधा-सह-साधन योजना को 2017-18 से 2019-20 तक जारी रखने को मंजूरी दी   
  • वक्‍फ की जमीन पर अवैध कब्‍जा  
  • आयुष
  • मंत्रिमंडल ने पारंपरिक औषधि एवं होम्‍योपैथी के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और क्‍यूबा के बीच एमओयू को मंजूरी दी  
  • उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय, खाद्य और सार्वजनिक वितरण
  • मंत्रिमंडल ने 2018-19 के चीनी सीजन के लिए चीनी मिलों द्वारा देय उचित एवं लाभकारी मूल्य के निर्धारण को मंजूरी दी  
  • कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन
  • सूचना का अधिकार अधिनियम में संशोधन  
  • कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय
  • मंत्रिमंडल ने 2010 में हस्‍ताक्षरित पारस्पिरि‍क मान्‍यता समझौते (एमआरए) को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने इंस्‍टीट्यूट ऑफ चार्टड एकाउंटेट्स ऑफ इंडिया तथा बहरीन इंस्‍टीट्यूट ऑफ बैंकिंग एण्‍ड फाइनेन्‍स के बीच समझौता ज्ञापन को स्‍वीकृति दी  
  • मंत्रिमंडल ने भारतीय सनदी लेखा संस्थाजन (आईसीएआई) और नेशनल बोर्ड ऑफ अकाउंटेंस एंड ऑडिटर्स (एनबीएए), तंजानिया के बीच एमओयू को मंजूरी दी  
  • कोयला मंत्रालय
  • कोयला मांग  
  • बिजली क्षेत्र के लिए देश में कोयले की कमी नहीं  
  • गृह मंत्रालय
  • महिलाओं के खिलाफ अपराध और दुष्‍कर्म की घटनाएं  
  • मंत्रिमंडल ने महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती पर कैदियों को विशेष माफी देने को मंजूरी दी  
  • जल संसाधन मंत्रालय
  • मंत्रिमंडल ने विदर्भ, मराठवाड़ा तथा शेष महाराष्‍ट्र के सूखा संभावित क्षेत्र में सिचांई परियोजनाओं के लिए विशेष पैकेज को मंजूरी दी  
  • नागर विमानन मंत्रालय
  • मंत्रिमंडल ने ब्रिक्स देशों में क्षेत्रीय विमानन साझेदीरी पर समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर को स्वीकृति दी  
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • मंत्रिमंडल ने पूर्व एनईएलपी तथा एनईएलपी ब्‍लॉकों में उत्‍पादन साझा करने के ठेके को युक्ति संगत बनाने के लिए नीति रूपरेखा को मंजूरी दी  
  • परमाणु ऊर्जा विभाग
  • भारत आधारित न्यूट्रिनो वेधशाला  
  • गुरूत्‍वाकर्षक तरंगों के अध्‍ययन के लिए वेधशाला     
  • कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र  
  • रक्षा मंत्रालय
  • रक्षा सहयोग पर भारत-अमेरिका प्रतिनिधिमंडल की बैठक  
  • रेल मंत्रालय
  • भारतीय रेल में यात्री क्षमता को बेहतर बनाये जाने के लिए कदम उठाए गए   
  • रेलवे में कार्गो कंटेनर कारोबार  
  • रेलवे स्‍टेशनों का पुनर्विकास  
  • रेल नेटवर्क का विस्तार  
  • अल्‍पसंख्‍यकों के लिए कल्‍याणकारी योजनाएं    
  • रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा  
  • मानवरहित रेलवे क्रॉसिंगों को समाप्त करना  
  • वित्त मंत्रालय
  • ई-वे बिल प्रणाली के तहत शिकायतों/सूचना के संसाधन के लिए शिकायत निपटान अधिकारी  
  • पीएफआरडीए ने अटल पेंशन योजना के बीमांकिक मूल्यांकन के लिए अभिरुचि पत्र (ईओआई) आमंत्रित किया  
  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय
  • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने ट्रक एक्‍सल भार में वृद्धि अधिसूचित की    
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • मंत्रिमंडल ने औषधिय उत्‍पाद, औषधिय पदार्थ, जीव विज्ञानिक उत्‍पाद और कॉस्‍मेटिक विनियमन के क्षेत्र में भारत और इंडोनेशिया के बीच एमओयू को मंजूरी दी  
  • मंत्रिमंडल ने उत्‍तर प्रदेश में देवरिया के सलेमपुर में मेडिकल कॉलेज की स्‍थापना को स्‍वीकृति दी  

 
प्रधानमंत्री कार्यालय07-अक्टूबर, 2017 14:45 IST

प्रधानमंत्री ने द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना की, द्वारका में एक जनसभा को संबोधित किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज द्वारका के द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ अपनी दो दिवसीय गुजरात यात्रा की शुरुआत की।

प्रधानमंत्री ने ओखा और बेट द्वारका के बीच पुल एवं अन्‍य सड़क विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने के लिए पट्टिकाओं का अनावरण किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्‍होंने द्वारका में आज एक नई ऊर्जा और उत्‍साह देखा। उन्होंने कहा कि जिस पुल की आधारशिला रखी गई है वह हमारी प्राचीन विरासत को नए सिरे से जोड़ने का एक साधन है। उन्‍होंने कहा कि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा जिससे रोजगार के अवसर सृजित होंगे क्‍योंकि पर्यटन को प्रोत्‍साहित करने के लिए विकास काफी अहम होगा।

प्रधानमंत्री ने याद किया कि कुछ वर्ष पहले बुनियादी ढांचे के अभाव के कारण किस प्रकार बेट द्वारका के लोगों को कठिनाइयों और चुनौतियों का सामना करना पड़ता था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र का विकास अलग-थलग रहकर नहीं किया जा सकता है। उन्‍होंने कहा कि यदि हम अधिक से अधिक पर्यटकों को गिर की ओर आकर्षित करना चाहते हैं तो हमें पर्यटकों को द्वारका जैसे आसपास के अन्‍य जगहों का भ्रमण करने के लिए भी प्रेरित करना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बुनियादी ढांचे के निर्माण से आर्थिक गतिविधियों में सुधार होना चाहिए और इससे विकास का वातावरण समृद्ध होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि हम बंदरगाहों का विकास और बंदरगाह-आधारित विकास चाहते हैं क्‍योंकि नीली अर्थव्‍यवस्‍था से भारत की प्रगति को आगे मदद मिलनी चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सरकार मछुआरों के सशक्तिकरण के लिए कई कदम उठा रही है। उन्‍होंने कहा कि काण्‍डला पोर्ट में अप्रत्‍याशित वृद्धि दिख रही है क्‍योंकि इस बंदरगाह में सुधार के लिए संसाधन लगाए गए थे। उन्‍होंने कहा कि अलंग को एक नया जीवन दिया गया है और वहां काम कर रहे श्रमिकों के कल्‍याण के लिए कदम उठाए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार समुद्री सुरक्षा उपकरणों का आधुनिकीकरण कर रही है। उन्‍होंने कहा कि इसके लिए इस देवभूमि द्वारका में एक संस्‍थान की स्‍थापना की जाएगी।

कल जीएसटी परिषद की बैठक में आम सहमति से लिए गए निर्णय के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि जब सरकार में भरोसा होता है और जब नीतियां सच्‍चे इरादे से बनाई जाती हैं तो लोगों के लिए यह स्‍वाभाविक है कि वे राष्‍ट्र के बेहतरीन हित में हमारा समर्थन करें।

प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने और गरीबी से मुकाबला करने में मदद करना चाहती है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया का ध्‍यान भारत की ओर आकर्षित किया जा रहा है और लोग यहां निवेश करने के लिए आ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं देख रहा हूं कि गुजरात भारत के विकास में सक्रिय योगदान कर रहा है और इसके लिए मैं गुजरात सरकार को बधाई देता हूं।'

***

अतुल तिवारी/शाहबाज़ हसीबी/बाल्‍मीकि महतो/संजीत चौधरी
(Release ID 67540)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338